राष्ट्रीय विशेष

कुंभ भी चलता है! हर तीन साल में एक बार!!

कुंभ का आधार विक्रम संवत है। उसी कैलेंडर से इसकी ज्योतिषीय गणना की जाती है। इसमें बृहस्पति, सूर्य एवं चंद्र की स्थितियां बेहद महत्वपूर्ण होती हैं। हर तीन साल के अंतराल पर कुंभ का स्थान बदलता है। इस तरह 12 वर्ष बाद कुंभ लौटता है। जिस स्थान पर एक बार हुआ। फिर वहां 12 वर्ष […]

राष्ट्रीय विशेष वैश्विक

यहां आने पर अपने दादे-परदादों के निशान मिलेंगे! यकीन न हो, आजमा लीजिए!!

कुम्भ आज का नही। सदियों पुराना है। कुंभ विश्व का सबसे बड़ा मेला है। सबसे बड़ा धार्मिक उत्सव। इतनी तादाद में भक्त कहीं नही पहुंचते। चीनी यात्री ह्वेनसांग छठीं सदी में भारत आया। उसने कुम्भ की गरिमा जानी। वो दंग रह गया। उसने कुंभ का ज़िक्र भी किया। ह्वेनसांग ने अपनी किताब में एक नाम […]

राष्ट्रीय विशेष वैश्विक

क्या कहा? करोड़ों कंधे एक साथ होंगे! ऐसा भी हो सकता है कोई स्नान!!

कुंभ स्नान में श्रद्धालु ही श्रद्धालु होंगे। आंकड़े हैरान करने वाले हैं। ये अभी अनुमानित आंकड़े हैं। पहले ही दिन यानि 15 जनवरी को 1 करोड़ 20 लाख। ये पहले दिन 15 जनवरी की अनुमानित संख्या है। इस रोज़ मकर संक्रांति है। 21 जनवरी यानि पौष पूर्णिमा को 55 लाख श्रद्धालु अनुमानित। 4 फरवरी को […]

एक्सक्लूसिव तस्वीरों में राष्ट्रीय विशेष वैश्विक

कुंभ की महिमा

पाप से छुटकारा चाहिए तो ये तारीखें याद कर लीजिए प्रयागराज में अर्ध कुंभ 15 जनवरी से शुरू होगा। शासन ने आयोजन की तैयारियां पूरी कर ली हैं। तीन शाही स्नानों की तारीखें घोषित हो चुकी हैं। ऐसी मान्यता है कि अगर इन तारीखों को स्नान किया गया तो जन्म जन्मांतर के पापों का नाश होगा। […]